कार्य

कार्य

राजस्थान राज्य कृषि विपणन बोर्ड प्रमुख रूप से राज्य के मण्डी क्षेत्रों में मण्डी यार्ड और सम्पर्क सड़कों के निर्माण और रख-रखाव की गतिविधियों में लगा हुआ है । राज्य के किसानों के लाभ के लिए बोर्ड द्वारा राज्य से फलों एवं सब्जियों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए पोस्ट हार्वेस्ट मेनेजमेंट गतिविधियों को मजबूत करने के प्रयास किये जा रहे हैं ।

बोर्ड की स्थापना के मुख्य उद्देश्यों का विवरण निम्नानुसार हैः-

1.      मार्केट यार्ड एवं सब यार्ड के विकास हेतु परियोजनाएं तैयार करना तथा उनका निर्माण एवं रख-रखाव करना ।

2.      ग्रामीण गांव के हिस्से में सी.सी. सड़क का निर्माण, मण्डी क्षेत्र में सम्पर्क सड़क का निर्माण एवं उनका उन्नयन करना ।

3.      क्षेत्र में आवक के आधार पर राज्य में विशिष्ठ मण्डियों की परियोजनाएं तैयार कर उनका विकास करना ।

4.      फसलोत्तर प्रबन्धन से संबंधित कार्यों हेतु किसानों का बढ़ावा देना ।

5.      कृषि विपणन बोर्ड, निदेशालय कृषि विपणन एवं मण्डियों के कर्मचारियों हेतु प्रशिक्षण का आयोजन करना और शिविर, कार्यशाला, सेमीनार एवं सम्मेलन आयोजित करना ।

6.      आकस्मिक दुर्घटना के मामनों में किसानों की मदद करना ।

7.      राज्य सरकार की पूर्व स्वीकृति से कृषि विपणन से संबंधित कोई अन्य उद्देश्य

बोर्ड का गतिविधियों का प्रमुख हिस्सा मण्डी यार्ड (सब यार्ड सहित) के लिए निर्माण का है ।

वित्‍तीय व्‍यवस्‍था

'विशिष्ठ', 'ए' और 'बी' श्रेणी की मण्‍डी समितियों की आय से क्रमश: तीस, बीस एवं दस प्रतिशत योगदान बोर्ड में विकास निधि के रूप में जमा किया जाता है । निर्माण कार्यो की देखभाल हेतु बोर्ड में स्‍वयं की अभियांत्रिकी शाखा है,  जो प्रोराटा चार्ज लेकर निर्माण कार्य करती है ।

प्रदत्त शक्तियां 6.76 MB View/ Download