Achievements

विभाग की अन्य उपलब्धियां:

  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक: प.6(31)कृषिग्रुप-203 दिनांक 21.5.09 से कृषि उपज मंडी समिति सीकर के क्षेत्र में से पंचायत समिति धोद की ग्राम पंचायत रसीदपुरा एवं पंचायत समिति लक्ष्मणगढ की ग्राम पंचायत खुडी के समस्त क्षेत्र को कृषि उपज मंडी समिति फतेहपुर के क्षेत्र में सम्मलित कर दिया है।
  • नव गठित जिला प्रतापगढ के गठन से उत्पन्न प्रशासनिक कठिनाइयों के निवारण के क्रम में राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक: प.10(216)कृषिग्रुप-274 दिनांक 21.5.09 से कृषि उपज मंडी समिति निम्बाहेडा, बांसवाडा,उदयपुर (अ), उदयपुर (फ.स.) एवं प्रतापगढ के घोषित मंडी क्षेत्रों का पुननिर्धारण किया है तथा पूर्व स्थापित गौण मंडी यार्ड छोटीसादडी (कृ.उ.म.स.निम्बाहेडा) व गौण मंडी यार्ड धरियावद (कृ.उ.म.स.उदयपुर) को उक्त अधिसूचना के जरिये कृषि उपज मंडी समिति प्रतापगढ के अधीन सम्मलित किया है।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.4(5)कृषिग्रुप-209 दिनांक 6.8.09 के द्वारा कृषि उपज मंडी समिति, पीपाडसिटी के ग्राम आसोप में गौण मंडी धोषित की गई है।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(12)कृषिग्रुप-296 दिनांक 6.8.09 से मुख्य मंडी मण्डावरी के लिए सदस्यों का मनोनयन किया गया। मनोनीत सदस्यों की प्रथम बैठक दि. 14.12.09 को आयोजित होने से यह स्वतंत्र मुख्य मंडी (सी श्रेणी) के रूप में कार्य प्रारंभ कर दिया गया।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(3)कृषिग्रुप-205 दिनांक 26.8.09 के द्वारा नवीन कृषि उपज मंडी समिति, फलौदी की स्थापनागठन एवं इसके लिए सदस्यों का मनोनयन किया जा चुका है। दिनांक 30.9.09 को निर्विरोध निर्वाचित धोषित अध्यक्ष द्वारा पदभार सम्भालने से यह गौणमंडी स्वतंत्र मुख्यमंडी के रूप में अस्तित्व में आ चुकी है।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक एफ.4.(4)कृषिग्रुप-206 दिनांक 13.8.09 से नियम 56बी का प्रावधान जोडकर प्राइवेट उप ई-मार्केट की स्थापना को प्रावधित किया गया है। नेशनल स्टोक एक्सचेंज लिमिटेड को दिनांक 21.12.09, एन.सी.डी.र्इ.एक्स. लिमिटेड को दिनांक 31.12.09 एवं रिलायन्स स्पाट एक्सचेंज इन्फा्र. लिमिटेड को दिनांक 8.11.10 को प्रार्इवेट सब ई-मार्केट स्थापना (राजस्थान राज्य के लिए) अनुज्ञापत्र जारी किये गये एवं इनके द्वारा कृषि जिन्सों का वदसपदम क्रय विक्रय का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।
  • कृषि उपज मंडी समितियों में मंडी समिति सदस्यों के लिए महिलाओं का 33 प्रतिशत के स्थान पर 50 प्रतिशत आरक्षण किये जाने का बिल राजस्थान विधान सभा पटल पर दिनांक 26.8.2009 को पारित हुआ। जिसका राजस्थान राज पत्र में दिनांक 11.9.2009 को गजट नोटिफिकेशन हो चुका है। राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक एफ.7(18)एग्रीग्रुप-22005 दिनांक 17.2.10 से नियमों में भी यथोचित संशोधन किया जा चुका है।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक एफ.4(77)एग्रीग्रुप-22003 दिनांक 15.9.09 के द्वारा राज. कृषि उपज विपणी नियम, 1963 के नियम 56 ए(2) में संशोधन किया गया।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6.(3)कृषिग्रुप-203 दिनांक 16.10.09 के द्वारा कृषि उपज मंडी समिति बांरा में गौण मंडी यार्ड केलवाडा घोषित की गई ।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.10(2)कृषिग्रुप-275 दिनांक 6.10.09 से कृषि जिन्स अदरक को मसाले शीर्षक से विलोपित कर सबिजयां शीर्षक के सम्मुख अंकित जिन्सों के साथ सम्मलित किया गया।
  • किसान जीवन कल्याण योजना को संशोधित कर दिनांक 9.12.09 से राजीव गाधी कृषक साथी योजना-2009 लागू की गई  । इसके अन्तर्गत अब कृषकों खेतीहर मजदूरों को कृषि अथवा कृषि विपणन कार्य करते समय मृत्यु की दशा में 1,00,000 रू. के बजाय 2,00,000 रू. एवं दो अंग-भंग होने की सिथति में 30,000 रू. के बजाय 50,000 रू. की सहायता प्रदान की जाती है। अन्य घटनाओं पर दी जाने वाली सहायता राशि में भी वृद्धि की गई  है।
  • राज्य की 'विशिष्ठ' एवं 'अ' श्रेणी की मंडी प्रांगणों में अपनी उपज विक्रय हेतु आने वाले कृषकों को रियायती अनुदानित दर पर भोजन उपलब्ध कराने बाबत आपणी रसोई योजना-2009 दिनांक 21.12.09 से लागू की गई ।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.10(2)कृषिग्रुप-275 दिनांक 17.2.10 से सौठ को मसाले शीर्षक अन्तर्गत कृषि उपजों के साथ सम्मलित किया गया है।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक एफ.4(50)एग्रीग्रुप-297 दिनांक 16.2.10 से एक से अधिक मंडी क्षेत्र के लिए विशिष्ठ अनुज्ञापत्र (एकल अनुज्ञापत्र) के नियम जारी किये जा चुके है।
  • राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(3)कृषिग्रुप-22000 दिनांक 10.3.2010 के द्वारा पूर्व में जारी समसंख्यक अधिसूचना दिनांक 15.2.2010 जिसके द्वारा कृषि उपज मंडी समिति गंगापुरसिटी के गंगापुर कस्बे में सिथत गौणमंडी प्रांगण को अधोषित (डी-नोटिफाईड) किया गया था, को तत्काल प्रभाव से प्रत्याहरित किया जाता है।

वर्ष 2010-11

 
  1. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(9)कृषिग्रुप-22003 दिनांक 19.5.10 के द्वारा कृषि उपज मंडी समिति (अनाज) बीकानेर के तहत ग्राम नापासर में गौणमंडी स्थापना करने की धोषणा की गर्इ है।
  2. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.4(9)कृषिग्रुप-209(नीति-2010) जयपुर दिनांक 9 जुलाइ्र्र, 2010 के द्वारा कृषि प्रसंस्करण एवं कृषि व्यवसाय प्रोत्साहन नीति, 2010 के अन्तर्गत कृषि प्रसंस्करण उधमों द्वारा राज्य में उत्पादित कृषि एवं औधोगिकी उत्पाद का सीधी क्रय किये जाने पर मंडी शुल्क उदग्रहण से मुक्त किया गया ।
  3. राज्य सरकार के पत्रांक प.4(9)कृषिग्रुप-209(नीति-2010) जयपुर दिनांक 9.7.10 के द्वारा निजी मंडी के अनुज्ञपित धारक को निजी मंडी के रखरखाव एवं विकास हेतु निजी मंडी से संग्रहित होने वाले मंडी शुल्क की राशि में से 20 प्रतिशत राशि निजी मंडी के अनुज्ञपित धारक को संदाय किये जाने की आज्ञा जारी की गर्इ ।
  4. कृषि प्रसंस्करण एवं कृषि व्यवसाय प्रोत्साहन नीति 2010 दिनांक 3.6.2010 को जारी की गर्इ ।
  5. राज्य सरकार की अधिसूचना कमांक प.4(9)कृषिग्रुप-209(नीति-2010) जयपुर दिनांक 9.7.10 के द्वारा कृषि प्रसंस्करण एवं कृषि व्यवसाय प्रोत्साहन नीति, 2010 के अन्तर्गत राज्य में कृषि प्रसंस्करणों को शीध्र शुरू करने को प्राथमिकता देने के लिए 25 करोड अथवा अधिक निवेश एवं 31 मार्च, 2012 से पूर्व वाणिजियक उत्पाद शुरू करने वाले कृषि प्रसंस्करण एवं कृषि व्यवसाय उधमों को मंडी शुल्क उदग्रहण से मुक्त किया गया।
  6. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.4(22)कृषिग्रुप-22008 दिनांक 25.2.2011 के द्वारा मंडी समितियों के श्रेणीकरण में परिवर्तन किया गया।
  7. मैसर्स कामधेनू किसान मंडी पल्लू (रावतसर) को निजी उपमंडी यार्ड स्थापना हेतु अनुज्ञापत्र संख्या 002 दिनांक 5.1.2011 को जारी किया गया।
  8. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(33)कृषिग्रुप-204 दिनांक 23.12.10 के द्वारा अन्ता (बांरा) में नवस्थापित कृषि उपज मंडी समिति के सदस्यों का मनोनयन किया गया । दिनांक 12.3.2011 को मंडी समिति की प्रथम बैठक होने के बाद यह स्वतन्त्र मंडी समिति (''स''श्रेणी) ने कार्य प्रारम्भ किया ।
  9. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.4(22)कृषिग्रुप-22008 दिनांक 25.2.11 से राज्य कृषि उपज मंडी विपणी नियम, 1963 के नियम 3 में संशोधन कर कृषि उपज मंडी समिति की श्रेणीकरण के नवीन मापदण्ड निर्धारित किये गये।
  10. निदेशालय के परिपत्र क्रमांक 52527-691 दिनांक 4.2.11 से मंडी प्रांगण में निर्मित किसाना भवनों को पीपीपी माडल के तहत संचालन हेतु निविदा शर्तो का निर्धारण किया गया।

वर्ष 2012-13

  1. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(15)कृषिग्रुप-22004 दिनांक 4.5.2012 से ''झ न'' मंडी बीकानेर का (अनाज) मंडी बीकानेर में विलय किया गया तथा समसंख्यक अधिसूचना दिनांक 17.7.12 के द्वारा गौणमंडी यार्ड (अनाज) पूगल रोड बीकानेर की स्थापना की गर्इ।
  2. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(24)कृषिग्रुप-22004 दिनांक 13.9.2012 से कृषि उपज मंडी समिति (अनाज) जोधपुर के अन्तर्गत ग्राम देचूं में गौणमंडी यार्ड धोषित किया गया है।
  3. राज्य सरकार के अनुमोदन पष्चात विभाग के पत्रांक निकृविनियमनम.सु.आपणी रसोर्इ 1227222-382 दिनांक 19.10.2012 के द्वारा आपणी रसोर्इ योजना में संषोधन कर भोजन थाली का अधिकतम मूल्य 30 रू निर्धारित किया गया। जिसमें 25 रू मंडी समिति द्वारा अनुदान दिया जावेगा व 5 रू कृषक हमाल मजदूरों द्वारा वहन किया जावेगा।
  4. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.10(8)कृषिग्रुप-286ाा दिनांक 21.11.2012 के द्वारा कृषि उपज मंडी समिति अलवर के मालाखेडा में फल सब्जी गौणमंडी यार्ड धोषित किया गया है।
  5. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(3)कृषिग्रुप-22003 दिनांक 5.2.2013 के द्वारा कृषि उपज मंडी समिति बारां के अन्तर्गत समरानियां में गौणमंडी यार्ड धोषित किया गया है।
  6. एम.एस.पी.पर दलहन की खरीद लधु कृषक कृषि व्यापार संध के प्रतिनिधि के रूप में क्रय करने वास्ते मै. नेषनल स्पाट एक्सचेंज मुम्बर्इ को विषिष्ठ अनुज्ञापत्र दिनांक 15.2.13 को स्वीकृत किया गया है।
  7. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.4(24)कृषिग्रुप-22006 दिनांक 17.2.2013 द्वारा राजस्थान कृषि उपज विपणी नियम, 1963 के नियम 52 में संषोधन कर मणिडयों को निर्माण कार्यो की शकितयां 8 लाख से बढाकर 10 लाख रूपये की गर्इ है।

वर्ष 2013-14

  1. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.10(44)कृषिग्रुप-285 दिनांक 25.06.2013 के द्वारा कृषि उपज मंडी समिति, मेडता सिटी की फल सब्जी मेडता सिटी गौणमंडी यार्ड धोषित किया गया है।
  2. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.6(4)कृषिग्रुप-22004 दिनांक 24.07.2013 के द्वारा कृषि उपज मंडी समिति, जयपुर (अनाज) के ग्राम तूंगा में गौणमंडी यार्ड धोषित किया गया है।
  3. राज्य सरकार के अनुमोदन पश्चात विभाग के आदेश क्रमांक   प. 6(7) कृषि/ग्रुप- 2/2000  दिनांक  04.03.2014  द्वारा जिला झालावाड में चौमेहला में कृषि उपज मण्डी समिति  ‘  श्रेणी चौमेहला की स्थापना की गई।
 

वर्ष 2014-15


  1. 10(5)कृषि/ग्रुप- 2/88  पार्ट दिनांक  12.06.2014  द्वारा जिला बूंदी में देई को नई कृषि उपज मण्डी की स्थापना की गई है। प्रथम बैठक  28.10.2014  को आयोजित की गई है।  
  2. निदेषालय के पृ क्रमांक प.1(94) निकृवि/नियमन/उदयपुर (अनाज)/ 2014/ 20123-30  दिनांक  25/27.08.2014  के द्वारा कृषि उपज मण्डी समिति , ( अनाज) उदयपुर के गौण मण्डी यार्ड गोगुन्दा का नाम  ‘‘ महाराणा प्रताप राजतिलक गौण मण्डी यार्ड गोगुन्दा ’’  किए जाने की स्वीकृति प्रदान की गई।
  3. राज्य सरकार कृषि (गु्रप-2)  विभाग के आदेष क्रमांक प. 10(2) कृषि/ग्रुप- 2/ 89/20140-43  दिनांक  25/27.08.2014  के द्वारा कृषि उपज मण्डी समिति कपासन के मुख्य मण्डी प्रांगण में पृथक से अजवाईन के लिए    विषिष्ठ मण्डी प्रांगण बनाये जाने की स्वीकृति प्रदान की गई है।  
  4. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांक प.10(2) कृषि/ग्रुप- 2-75  दिनांक  25/27.08.2014  के द्वारा वन उपज शीर्षक के अन्तर्गत लघु वन उपजों को मण्डी नियमन की परिधि में लेने हेतु मण्डी अधिनियम की धारा- के तहत आषय की अधिसूचना जारी कर आपतियॉ/सुझाव आमंत्रित किए गये थे जिनके निस्तारण कर अधिनियम की धारा  40  के अन्तर्गत अधिसूचित जिन्सों में शामिल कर लिया गया है। राज्य सरकार के आदेष उदयपुर (अनाज) मण्डी के मुख्य मण्डी यार्ड सविना में लघु वन उपज का पृथक से विषिष्ट मण्डी प्रांगण बनाये जाने की स्वीकृति प्रदान की है।  
  5. राज्य सरकार के आदेषानुसार क्रमांकः प.(78) कृषि/गु्रप- 2/2002  दिनांक  18.11.2014  के द्वारा विभाग के समसंख्यक पत्र दिनांक  09.12.2009  से जारी राजीव गांधी कृषक साथी योजना में आंषिक संषोधन करते हुए कृषक/खेतीहर मजदूर की खेती कार्य हुए मृत्यु होने की स्थिति में देय सहायता राषि  01  लाख रूपये के स्थान पर  02  लाख रूपये कर दी गई है।
  6. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प. 6(3) कृषि/गु्रप- 2/2005  दिनांक  13.10.2014  द्वारा कृषि उपज मण्डी समिति फलौदी के अन्तर्गत ग्राम बाप को गौण मण्डी यार्ड घोषित किया गया है।
  7. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प.4(18) कृषि/गु्रप- 2/2014  दिनांक  04.12.2014  द्वारा कृषि उपज मण्डी समिति रानीवाडा के ग्राम जालेरा कलां को गौण मण्डी यार्ड घोषित किया गया है।
  8. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प.4(24) कृषि/ग्रुप- 2/2006  दिनांक  07.01.2014  द्वारा  ’’ विषिष्ट ’’  व  ’’ ’’  श्रेणी के कृषि उपज मण्डी समितियों के अध्यक्षों को  6000  रूपये व  ’’ ’’, ’’ ’’  व  ’’ ’’  श्रेणी की मण्डी समितियों के अध्यक्षों को  4000  रूपये मानदेय प्रतिमाह दिया गया है। इनके दैनिक भत्तों में बढोतरी की गई है।
  9. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प.4(7)कृषि/ग्रुप-2/14 दिनांक 25.02.2015 के द्वारा जिला भीलवाडा में स्वतंत्र कृषि उपज मण्डी समिति, शाहपुरा का गठन किया गया है।

वर्ष 2015-16

  1. राज्य सरकार की अधिसूचना की क्रमांकः प.10(2)कृषि/ग्रुप-2/1975 दिनांक 22.06.2015 के द्वारा फल एवं सब्जीयों के विक्रय पर यूजर्स चार्जेज लागू किया गया है।
  2. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प.4(7)कृषि/ग्रुप-2/2014 दिनांक 07.09.2015 के द्वारा स्वतंत्र कृषि उपज मण्डी समिति, महवा की स्थापना की गई है।
  3. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प.4(22)कृषि-2/2008 दिनांक 12.05.2015 द्वारा मण्डियों का नवीन मापदण्ड के अनुसार श्रेणीकरण किया गया है।
  4. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प.4(7)कृषि-2/2014 जयपुर दिनांक 09.03.2016 के द्वारा जयपुर जिले में ग्राम ’’बस्सी’’ को स्वतंत्र मण्डी घोषित किया गया है।

वर्ष 2016-17


  1. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प.10(45)कृषि-2/85 जयपुर दिनांक 01.07.2016 के द्वारा कृषि उपज मण्डी समिति, मालपुरा के मण्डी क्षेत्र ग्राम ’’लाम्बाहरिसिंह’’ में गौण मण्डी यार्ड घोषित किया गया है।
  2. गुढागौडजी (नवलगढ़), छोटी सादडी (प्रतापगढ़), दूनी (देवली), चौमू फ.स. (चौमू), बज्जू (बीकानेर), पलसाना (सीकर) और भगत की कोठी (अनाज) (जोधपुर) में कृषि उपज मण्डी समितियां की स्थापना की गई है।
  3. कोटडा(उदयपुर अनाज), आऊ (फलौदी), वीरमाना(सूरतगढ), साधुवाली (श्रीगंगानगर फ.स. ऊन), खाटूश्यामजी (सीकर), बूंदी फ.स. (बूंदी), टोडारायसिंह (मालपुरा), 4 सीवाईएम (फल सब्जी, रावतसर), लसाडिया (उदयपुर अनाज) और रसीदपुरा (फतहपुर), चांधण (जैसलमेर), बोरून्दा (पीपाड़सिटी), देसूरी (रानी स्टेशन), झझू(बीकानेर अनाज), सुल्ताना(चिड़ावा), हलैना(नदबई), चनाना(चिड़ावा), बालाजी(गुड़ागौड़जी), बैसरोली(कुचामनसिटी), बधेरा(नवलगढ़), खण्डेला(श्रीमाधोपुर), बोहेड़ा(बड़ीसादडी), पीपलखूट(प्रतापगढ़),  हिगोंनिया(किशनगढ़ रेनवाल), सावर(केकड़ी), भिवाडी(खैरथल) गौण मण्डी यार्डों की स्थापना की गई है।  
  4. राज्य कीअधिसूचना क्रमांकः प.4(2)कृषि-2/2014 दिनांक 12.01.2016 के द्वारा कृषि उपज मण्डी समिति (फ.स.)जोधपुर का नांमाकरण सावित्री बाई फूले कृषि उपज मण्डी समिति (फल सब्जी) जोधपुर किया गया।
  5. राज्य सरकार के पत्र क्रमांकः प.6(30)कृषि/ग्रुप-2/97 दिनांक 12.08.2016 के अनुसार कृषि उपज मण्डी समिति बाड़मेर के मुख्य मण्डी प्रांगण में विशिष्ठ जीरा मण्डी खोले जाने की स्वीकृति प्रदान की गई है। 

वर्ष 2017-18


  1. राज्य सरकार के आदेश क्रमांक प.10(22)कृषि/गु्रप-2/85 दिनांक 22.06.2017 के अनुसार कृषि उपज मण्डी समिति, मदनगंज-किशनगढ को दलहन की विशिष्ट मण्डी बनाये जाने की स्वीकृति प्रदान की गई।
  2. राज्य सरकार के पत्र क्रमांक प.4(25)कृषि/गु्रप-2/2012 दिनांक 22.12.2017 के अनुसार कृषि उपज मण्डी समिति फतेहपुर के अन्तर्गत ग्राम रसीदपुरा को विशिष्ट जिन्स प्याज मण्डी घोषित किये जाने की स्वीकृति प्रदान की गई।

वर्ष 2018-19

  1. राज्य सरकार की अधिसूचना क्रमांकः प.4(12)कृषि/गु्रप-2/2016 दिनांक 13.07.2018 के द्वारा जयपुर जिले में राजधानी कृषि उपज मण्डी समिति, जयपुर (अनाज) जयपुर का मण्डी क्षेत्र घोषित किया गया है।